Current Affairs in Hindi 2021

06 Aug 2021 Current Affairs in Hindi

राष्ट्रीय

स्वतंत्रता दिवस के अतिथि होंगे भारतीय ओलंपिक दल

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह के लिए भारत के ओलंपिक दल (Olympic contingent) को विशेष अतिथि (special guests) के रूप में आमंत्रित करेंगे। मोदी बातचीत के लिए अपने आवास पर दल को भी आमंत्रित करेंगे।

इस वर्ष, भारत का प्रतिनिधित्व 228-मजबूत दल द्वारा किया गया है जिसमें टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में 120 एथलीट शामिल हैं। पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने पूरे आयोजनों में ओलंपियनों (Olympians) का समर्थन और प्रोत्साहन किया। उन्होंने विजेताओं को बधाई दी और भारत को गौरवान्वित करने वालों की सराहना की।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1,023 फास्ट ट्रैक विशेष अदालतों को जारी रखने की मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल (Union Cabinet) ने केंद्र प्रायोजित योजना के रूप में 389 विशेष पॉक्सो अदालतों (POCSO courts) सहित 1,023 फास्ट ट्रैक विशेष अदालतों (fast track special courts) को अगले दो वर्षों के लिए जारी रखने की मंजूरी दी है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा कि 31 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में से 28 ने योजना शुरू की है। पश्चिम बंगाल (West Bengal) उन राज्यों में से एक है जिसने इस योजना को शुरू नहीं किया है।

यह योजना 1 अप्रैल, 2021 से 31 मार्च, 2023 तक जारी रहेगी, जिसमें 1572.86 करोड़ रुपये का परिव्यय होगा – केंद्रीय (central) हिस्से के रूप में 971.70 करोड़ रुपये और राज्य (state) के हिस्से के रूप में 601.16 करोड़ रुपये। केंद्रीय हिस्से को ‘निर्भया (Nirbhaya)’ फंड से वित्त पोषित किया जाना है। यह योजना 2 अक्टूबर, 2019 को शुरू की गई थी।

BRO ने लद्दाख में 19,300 फीट की ऊंचाई पर बनाई दुनिया की सबसे ऊंची सड़क

सीमा सड़क संगठन (Border Roads Organisation – BRO) ने पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) के उमलिंग-ला दर्रे  (Umlingla Pass) पर दुनिया की सबसे ऊंची सड़क का निर्माण कर उसे काला कर दिया है। दुनिया की सबसे ऊंची मोटर योग्य सड़क 19,300 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। 

यह माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) के बेस कैंप से भी ऊंचा है। पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) के चुमुर सेक्टर (Chumar sector) के महत्वपूर्ण शहरों को जोड़ने वाली यह सड़क अपने आप में उमलिंग-ला दर्रे (Umlingla Pass) से होते हुए 52 किलोमीटर लंबी टरमैक (tarmac) है।

तिब्बत (Tibet) में उत्तरी आधार 16,900 फीट है, जबकि नेपाल (Nepal) में दक्षिण आधार शिविर 17,598 फीट है। माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) का शिखर 29,000 फीट से थोड़ा अधिक है। सड़क का निर्माण सियाचिन ग्लेशियर (Siachen Glacier) की ऊंचाई से काफी ऊपर किया गया है जो कि 17,700 फीट है।

 लेह (Leh) में खारदुंग ला दर्रा (Khardung La Pass) 17,582 फीट की ऊंचाई पर है। इसके साथ ही भारत ने बोलीविया (Bolivia’s) के 18,953 फीट की सड़क के रिकॉर्ड को भी बेहतर कर दिया है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • बीआरओ के महानिदेशक: लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी (Rajeev Chaudhary);
  • बीआरओ मुख्यालय: नई दिल्ली (New Delhi);
  • बीआरओ की स्थापना: 7 मई 1960।

राज्यपाल कैदियों को क्षमा कर सकते हैं: भारत का सर्वोच्च न्यायालय

3 अगस्त, 2021 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court of India) ने कहा कि राज्य के राज्यपाल (Governor) मौत की सजा के मामलों सहित कैदियों को क्षमा कर सकते हैं। राज्यपाल (Governor) कम से कम 14 साल की जेल की सजा पूरी करने से पहले ही कैदियों (prisoners) को माफ कर सकते हैं।

कोर्ट (Court) ने यह भी कहा कि क्षमा करने की राज्यपाल की शक्ति दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 433 ए के तहत दिए गए प्रावधान को ओवरराइड करती है।

धारा (Section) 433 A में कहा गया है कि 14 साल की जेल के बाद ही कैदी की सजा को माफ किया जा सकता है। अदालत ने कहा कि संहिता की धारा 433-A संविधान के अनुच्छेद 72 या 161 के तहत क्षमादान देने की राष्ट्रपति (President) या राज्यपाल (Governor) की संवैधानिक शक्ति (constitutional power) को प्रभावित नहीं कर सकती है और न ही प्रभावित करती है। 

ऐसी शक्ति संप्रभु की शक्ति के प्रयोग में है। हालांकि, राज्यपाल को राज्य सरकार की सहायता और सलाह पर कार्य करना होगा।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • भारत के सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना: 26 जनवरी 1950;
  • भारत के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति: एनवी रमण (NV Ramana)।

उत्तराखंड ने किया भारत के पहले भूकंप मोबाइल ऐप का अनावरण

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने ‘उत्तराखंड भूकंप अलर्ट (Uttarakhand Bhookamp Alert)’ नाम से अपनी तरह का पहला भूकंप पूर्व चेतावनी मोबाइल एप्लिकेशन (warning mobile application) लॉन्च किया है।

ऐप को उत्तराखंड  राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Uttarakhand State Disaster Management Authority – USDMA) के सहयोग से आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) द्वारा विकसित किया गया है।

प्रारंभ में, इस ऐप को केवल पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences), भारत सरकार द्वारा उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र के लिए एक पायलट परियोजना के रूप में लॉन्च किया गया था, परियोजना प्रस्ताव को उत्तराखंड सरकार द्वारा आगे बढ़ाया गया था।

लोगों को भूकंप अलर्ट के बारे में सूचित करने के लिए उत्तराखंड भूकंप अलर्ट (Uttarakhand Bhookamp Alert) भारत का पहला भूकंप पूर्व चेतावनी ऐप है।

भूकंप पूर्व चेतावनी (Earthquake Early Warning – EEW) मोबाइल ऐप भूकंप की शुरुआत का पता लगा सकता है और पड़ोस में भूकंप की घटना के बारे में चेतावनी जारी कर सकता है और जीवन के किसी भी नुकसान को रोकने के लिए स्थान पर आने और तीव्रता के अपेक्षित समय के बारे में चेतावनी जारी कर सकता है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • उत्तराखंड की राज्यपाल: बेबी रानी मौर्य (Baby Rani Maurya);
  • उत्तराखंड के मुख्यमंत्री: पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami)।

नियुक्तियां 

कुमार मंगलम बिड़ला ने Vi के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष पद को छोड़ा

आदित्य बिड़ला समूह (Aditya Birla Group) के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) ने वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea – now Vi) बोर्ड के गैर-कार्यकारी निदेशक (Non-Executive Director) और गैर-कार्यकारी अध्यक्ष (Non-Executive Chairman) के रूप में पद छोड़ दिया है। 

वीआई बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स (Vi Board of Directors) ने सर्वसम्मति से हिमांशु कपानिया (Himanshu Kapania), वर्तमान में एक गैर-कार्यकारी निदेशक को गैर-कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में चुना है।

कपानिया (Kapania), आदित्य बिड़ला समूह (Aditya Birla Group) के नामांकित व्यक्ति, 25 वर्षों के अनुभव के साथ एक दूरसंचार उद्योग के दिग्गज हैं। उन्होंने दो साल के लिए ग्लोबल जीएसएमए बोर्ड (Global GSMA Board) में भी काम किया है और दो साल के लिए सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (Cellular Operators Association of India – COAI) के अध्यक्ष भी रहे हैं। 

वह वर्तमान में दूरसंचार (Telecom), इलेक्ट्रॉनिक्स (Electronics) और डिजिटल अर्थव्यवस्था (Digital Economy) पर फिक्की परिषद (FICCI Council) के अध्यक्ष हैं।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • आदित्य बिड़ला समूह के संस्थापक: सेठ शिव नारायण बिड़ला (Seth Shiv Narayan Birla);
  • आदित्य बिड़ला समूह की स्थापना: 1857;
  • आदित्य बिड़ला समूह मुख्यालय: मुंबई (Mumbai)।

सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति वी एम कनाडे मुंबई लोकायुक्त नियुक्त

महाराष्ट्र (Maharashtra) के राज्यपाल, भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की सलाह पर, बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay high court) के सेवानिवृत्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति वी एम कनाडे (V M Kanade) को महाराष्ट्र के नए लोकायुक्त (Lokayukta) के रूप में नियुक्त करने की मंजूरी दे दी है।

महाराष्ट्र (Maharashtra) लगभग एक साल तक पूर्णकालिक लोकायुक्त के बिना था। पिछले लोकायुक्त, (सेवानिवृत्त) न्यायमूर्ति एम एल तहलियानी (M L Tahaliyani) ने अगस्त 2020 में अपना कार्यकाल पूरा किया था।

लोकायुक्त (Lokayukta) भ्रष्टाचार रोधी लोकपाल है। नागरिक किसी भी सरकारी अधिकारी (government official) या निर्वाचित प्रतिनिधि (elected representative) के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत सीधे लोकायुक्त (Lokayukta) को कर सकते हैं, जिन्हें शीघ्र निवारण का काम सौंपा जाता है।

लोकायुक्त (Lokayukta) एक प्रहरी की तरह काम करता है और भ्रष्टाचार (corruption) के खिलाफ लड़ने और पारदर्शिता (transparency) लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।  लगभग एक साल से लोकायुक्त (Lokayukta) नहीं था और इससे पता चलता है कि सरकार पारदर्शिता (transparency) को प्रोत्साहित करने के लिए उत्सुक नहीं है।

लोकायुक्त पद सरकार पर नजर रखने के लिए महत्वपूर्ण है और 2015 और 2020 के बीच आदमी के लिए एक सहारा बन गया है।

बैंकिंग

RBI ने हेवलेट-पैकार्ड फाइनेंशियल सर्विसेज पर लगाया 6 लाख रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India – RBI) ने बेंगलुरु (Bengaluru) स्थित हेवलेट-पैकार्ड फाइनेंशियल सर्विसेज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड (Hewlett-Packard Financial Services India Private Ltd) पर 6 लाख रुपये का मौद्रिक जुर्माना (monetary penalty) लगाया है। 

RBI ने कहा 31 मार्च 2019 को अपनी वित्तीय स्थिति (financial position) के संबंध में कंपनी के वैधानिक निरीक्षण (statutory inspection) में अन्य बातों के साथ-साथ, (i) बड़े क्रेडिट पर सूचना के केंद्रीय भंडार को क्रेडिट जानकारी (Central Repository of Information on Large Credits) प्रस्तुत करने और (ii) क्रेडिट सूचना कंपनियों (credit Information Companies) को क्रेडिट डेटा प्रस्तुत करने पर सांविधिक निर्देशों का अनुपालन न करने का खुलासा किया।

उपरोक्त निर्देशों का पालन करने में कंपनी की विफलता को ध्यान में रखते हुए भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम (Reserve Bank of India Act), 1934 और क्रेडिट सूचना कंपनी (विनियमन) अधिनियम {Credit Information Companies (Regulation) Act}, 2005 के प्रावधानों के तहत इसमें निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए आरबीआई द्वारा जुर्माना लगाया गया है।

समझौता ज्ञापन

भारत और विश्व बैंक ने हस्ताक्षर किए $250 मिलियन की परियोजना पर

विश्व बैंक (World Bank) ने दीर्घकालिक बांध सुरक्षा कार्यक्रम (long-term dam safety program) और भारत के विभिन्न राज्यों में मौजूदा बांधों की सुरक्षा (safety) और प्रदर्शन (performance) में सुधार के लिए भारत में 250 मिलियन अमरीकी डालर की परियोजनाओं को मंजूरी दी है।

दूसरा बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना (Dam Rehabilitation and Improvement Project- DRIP-2) समझौता विश्व बैंक (World Bank), भारत सरकार (Government of India), केंद्रीय जल आयोग (Central Water Commission) और 10 भाग लेने वाले राज्यों के सरकारी प्रतिनिधियों के बीच हुआ था। इस परियोजना को केंद्रीय जल आयोग (Central Water Commission – CWC) के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर लागू किया जाएगा।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • विश्व बैंक मुख्यालय: वाशिंगटन(Washington), डी.सी. (D.C.), संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America)।
  • विश्व बैंक का गठन: जुलाई 1944।
  • विश्व बैंक के अध्यक्ष: डेविड माल्पस (David Malpass)।

रक्षा

INS खंजर हेरिटेज कोस्टल पोर्ट पर कॉल करने वाला पहला INS बना

भारतीय नौसेना (Indian Naval) का जहाज खंजर (Khanjar) ओडिशा (Odisha) के गोपालपुर (Gopalpur) के विरासत तटीय बंदरगाह पर कॉल करने वाला पहला भारतीय नौसेना जहाज (Indian Navy ship) बन गया। आजादी की 75वीं वर्षगांठ और 1971 के युद्ध की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव (Aazadi ka Amrit Mahotsav) के साथ-साथ स्वर्णिम विजय वर्ष (Swarnim Vijay Varsh) समारोह के हिस्से के रूप में दो दिवसीय यात्रा का आयोजन किया गया था।

 जहाज की यात्रा का उद्देश्य तटीय सुरक्षा (coastal security) और समुद्री संचालन (maritime operations) के पहलुओं पर स्थानीय लोगों के साथ संबंधों को बढ़ाना और जागरूकता फैलाना था।यात्रा के दौरान, जहाज (ship) के अधिकारियों ने बंदरगाह के अधिकारियों के साथ बातचीत की और नौसेना के जहाजों (Naval ships) के ओटीआर (OTR) के लिए बर्थिंग सुविधाओं (berthing facilities) और बंदरगाह के बुनियादी ढांचे (port infrastructure) के सुरक्षा अवलोकन से संबंधित पहलुओं पर चर्चा की। 

जहाज की टीम ने गोपालपुर (Gopalpur) समुद्र तट पर सफाई अभियान और बंदरगाह (port) परिसर में वृक्षारोपण (tree plantation) भी किया। इसके अलावा, गंजाम (Ganjam) जिले के छत्रपुर (Chatrapur) में समर्थ ऑर्थोपेडिकली हैंडीकैप्ड वेलफेयर एसोसिएशन (Samarth Orthopedically Handicapped Welfare Association) को किताबें और सूखे प्रावधान वितरित किए गए।

पुरस्कार

सी.आर.राव स्वर्ण पदक पुरस्कार विजेताओं की घोषणा

इंडियन इकोनोमेट्रिक सोसाइटी (The Indian Econometric Society – TIES) ट्रस्ट ने प्रो. सी.आर. राव शताब्दी स्वर्ण पदक पुरस्कार (Prof. C.R. Rao Centenary Gold Medal award) के लिए दो प्रसिद्ध आर्थिक विद्वानों का चयन किया है। प्रसिद्ध अर्थशास्त्री (Renowned economists) जगदीश भगवती (Jagdish Bhagwati) और सी रंगराजन (C Rangarajan) को उद्घाटन प्रोफेसर सीआर राव शताब्दी स्वर्ण पदक (Centenary Gold Medal – CGM) से सम्मानित किया गया है। 

भगवती (Bhagwati) कोलंबिया विश्वविद्यालय (Columbia University) में अर्थशास्त्र (economics), कानून और अंतरराष्ट्रीय संबंधों (law and international relations) के प्रोफेसर हैं, जबकि सी रंगराजन (C Rangarajan) प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (Economic Advisory Council) के पूर्व अध्यक्ष और भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के पूर्व गवर्नर हैं।

TIES ट्रस्ट ने पुरस्कार विजेताओं को शॉर्टलिस्ट करने के लिए एक जूरी का गठन किया था। जूरी की सिफारिशों के आधार पर, इसने दो प्रतिष्ठित विद्वानों को उद्घाटन पुरस्कार देने की घोषणा की। मात्रात्मक अर्थशास्त्र (quantitative economics) और आधिकारिक आंकड़ों (official statistics) के सैद्धांतिक (theoretical) और व्यावहारिक पहलुओं के क्षेत्र में आजीवन योगदान के लिए भारतीय या भारतीय मूल के विद्वान को दो साल में एक बार पदक प्रदान किया जाता है।

खेल

पुरुष हॉकी में भारत ने जीता कांस्य, जर्मनी को 5-4 से हराया

भारतीय पुरुष हॉकी टीम (Indian men’s hockey team) ने जर्मनी (Germany) को हराकर 41 साल में अपना पहला ओलंपिक पदक जीता। भारत ने टोक्यो ओलंपिक में जर्मनी को 5-4 से हराकर पुरुष हॉकी में कांस्य पदक (bronze medal) जीता। 

कांस्य पदक जीतने से पहले, भारत आखिरी बार 1980 में ओलंपिक पोडियम पर चढ़ा था, जब उन्होंने खेलों में अपना 8 वां स्वर्ण जीता था।

सिमरनजीत सिंह (Simranjeet Singh) ने Oi हॉकी स्टेडियम (Oi Hockey Stadium) में भारत के लिए दो गोल किए, साथ ही हार्दिक सिंह (Hardik Singh), हरमनप्रीत सिंह (Harmanpreet Singh) और रूपिंदर पाल सिंह (Rupinder Pal Singh) ने भी स्कोरशीट में अपना नाम जोड़ा।

रवि कुमार दहिया ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में जीता रजत पदक

भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया (Ravi Kumar Dahiya) ने पुरुषों के 57 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग (freestyle category) के फाइनल में रूसी ओलंपिक समिति (Russian Olympic Committee’s – ROC) के जवुर यूगेव (Zavur Uguev) से हारकर रजत पदक जीता। 

यह टोक्यो ओलंपिक में भारत का पांचवां पदक और अभियान का दूसरा रजत पदक है। 

रवि कुमार  (Ravi Kumar) के डी जाधव (KD Jadhav), सुशील कुमार (Sushil Kumar), योगेश्वर दत्त (Yogeshwar Dutt) और साक्षी मलिक (Sakshi Malik) के बाद ओलंपिक पोडियम (Olympic podium) पर पहुंचने वाले पांचवें भारतीय पहलवान हैं। 

पुस्तक एवं लेखक

मनन भट्ट नई किताब बालाकोट हवाई हमले 2019 पर

गरुड़ प्रकाशन (Garuda Prakashan) द्वारा प्रकाशित “बालाकोट एयर स्ट्राइक: हाउ इंडिया एवेंज्ड पुलवामा (Balakot Air Strike: How India Avenged Pulwama)” नामक एक नई पुस्तक, नौसेना (Navy) के अनुभवी मनन भट्ट (Manan Bhatt) द्वारा लिखी गई है। 

प्रकाशक के अनुसार, “एरेसी थ्रिलर (a racy thriller)” “एड्रेनालिन-पुशिंग एक्शन (adrenalin-pushing action)” के साथ, पाठकों की देशभक्ति को तेज कर देगा, जबकि उन्हें सशस्त्र बलों (armed forces) के प्रति कृतज्ञता (gratitude) और गर्व (pride) की भावना से भर देगा।

पुस्तक, “दो युगांतरकारी घटनाओं (two epochal events)” के अपने विस्तृत विवरण में, “दुर्भाग्यपूर्ण सीआरपीएफ बस के हिट होने से पहले के क्षणों से लेकर कॉकपिट तक, जहां से सटीक बम चलाए गए थे और उन 12 महत्वपूर्ण घटनाओं में क्या हुआ था, सब कुछ कैप्चर करने का दावा करती है। 

निधन

पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित पद्मा सचदेव का निधन

पद्म श्री पुरस्कार (Padma Shri award) से सम्मानित और डोगरी भाषा (Dogri language) की पहली आधुनिक महिला कवियत्री पद्मा सचदेव (Padma Sachdev) का निधन हो गया। उन्हें 2001 में देश का चौथा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार पद्म श्री (Padma Shri) मिला और उन्हें मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh government) द्वारा 2007-08 के लिए कविता के लिए कबीर सम्मान (Kabir Samman) से सम्मानित किया गया।

उन्होंने डोगरी (Dogri) और हिंदी (Hindi) में कई किताबें लिखीं, और उनके कविता संग्रह, जिनमें ‘मेरी कविता मेरे गीत (Meri Kavita Mere Geet)’ शामिल हैं, ने उन्हें 1971 में साहित्य अकादमी पुरस्कार (Sahitya Akademi Award) जीता था ।


2 Replies to “06 Aug 2021 Current Affairs in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.