Nagasaki Day 2022 - Hindi

Nagasaki Day 2022 in Hindi: नागासाकी दिवस 2022, जानें इतिहास, महत्त्व, कारण और प्रमुख तथ्य

Nagasaki Day 2022 in Hindi: प्रत्येक वर्ष 9 अगस्त को नागासाकी दिवस (Nagasaki Day) मनाया जाता है। दरअसल द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका ने 9 अगस्त, 1945 को दक्षिणी जापान के समुद्र तटीय शहर नागासाकी पर प्लूटोनियम-239 वाला ‘फैट मैन’ नाम का एक परमाणु बम गिराया गया था। एक आंकड़े के अनुसार, इसमें लगभग एक लाख चालीस हज़ार लोग मारे गए थे।। इससे पहले 6 अगस्त को अमेरिका द्वारा ही जापान के हिरोशिमा शहर पर ‘लिटिल बॉय’ नाम का यूरेनियम बम गिराया गया थ, जिसमें 20,000 सैनिक और 70,000 आम नागरिकों की मौत हुई थी। जापान के नागासाकी में अमेरिकी परमाणु बमबारी की 77वीं बरसी है।

नागासाकी बमबारी के छह दिनों के बाद, जापानी सम्राट ग्योकून-होसो (Gyokuon-Hoso) के भाषण को प्रसारित किया गया, जिसमें उन्होंने आत्मसमर्पण की घोषणा की थी। बमबारी के कारण हुई भारी तबाही ने जापान को द्वितीय विश्व युद्ध में आत्मसमर्पण करने के लिए मज़बूर किया। अंततः द्वितीय विश्व युद्ध समाप्त हो गया था।

Important Days in August 2022

Nagasaki Day 2022: इतिहास (History)

  • नागासाकी पर गिराए गए बम का कोड-नाम ‘फैट मैन (Fat Man)’ था। इस परमाणु बम ने एक लाख चालीस हज़ार से अधिक लोगों जान ले ली। द्वितीय विश्व युद्ध में जापान के बिना शर्त आत्मसमर्पण के लिए मज़बूर करने में इस बम की अहम् भूमिका थी। नागासाकी में गिराए गए बम विस्फोट के तुरंत बाद तकरीबन 70,000 लोग मारे गए थे, जबकि बाद में विकिरण से संबंधित बीमारियों से लगभग 70,000 और लोग मारे गए थे। 
  • एनोला गे नामक एक अमेरिकी युद्धक विमान से ‘फैट मैन’ को गिराया गया था। जब नागासाकी पर प्लूटोनियम परमाणु बम गिराया गया, तब 43 सेकण्ड के बाद ज़मीन से तकरीबन 1,550 फीट की ऊँचाई पर यह बम फटा (इससे 21 किलोटन टी.एन.टी. के बराबर धमाका हुआ)। जिसके परिणामस्वरूप 3,900 डिग्री सेल्सियस की ऊष्मा उत्पन्‍न हुई थी। जिससे इतनी बड़ी तादाद में लोगों की मौत हुई।
  • इससे पहले जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल होकर 7 दिसंबर, 1941 को प्रशांत महासागर में स्थित अमेरिकी नौसैनिक अड्डे ‘पर्ल हार्बर’ पर धुंआधार बमबारी कर अमेरिका को चुनौती दे दी थी। जापान का यह उकसावा अमेरिका के लिए द्वितीय विश्वयुद्ध में कूद पड़ने का खुला न्यौता बन गया।

Nagasaki Day 2022: कारण/वजह (Cause)

  • द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान ने अमेरिका और मित्र राष्ट्रों के ख़िलाफ़ ख़ूब लड़ाई लड़ी। 8 मई, 1945 को ज़र्मनी के आत्मसमर्पण के साथ ही यूरोप में युद्ध समाप्त हो गया था। लेकिन प्रशांत महासागर में मित्र राष्ट्रों और जापान के बीच युद्ध ज़ारी रहा।
  • जुलाई 1945 में पॉट्सडैम घोषणा (Potsdam Declaration) में, मित्र राष्ट्रों ने जापान से बिना शर्त आत्मसमर्पण के लिए कहा। हालाँकि जापान ने इसे नज़रअंदाज़ कर दिया और इसने युद्ध लड़ना ज़ारी रखा।
  • जापान और अमेरिका के बीच संबंध एकदम ख़राब हो गए थे, ख़ासकर जब जापानी सेना ने ईस्ट इंडीज के तेल-समृद्ध क्षेत्रों पर कब्जा करने के इरादे से इंडोचीन को निशाना बनाने का फैसला किया।
  • इसलिए, अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी ट्रूमैन ने द्वितीय विश्व युद्ध में जापान को आत्मसमर्पण करने के लिए परमाणु बमों के उपयोग करने के लिए अधिकार दे दिया।
  • परिणामस्वरूप, 1940 के दशक में मैनहट्टन परियोजना (Manhattan Project) के तहत विकसित किये गए दो प्रकार के परमाणु बमों का उपयोग किया गया। 6 अगस्त, 1945 को हिरोशिमा शहर में ‘लिटिल बॉय’, एक यूरेनियम बम और 9 अगस्त 1945, को नागासाकी शहर में ‘द फैट मैन’, एक प्लूटोनियम बम गिराया गया था।

Nagasaki Day 2022: महत्व (Significance)

  • शांति को बढ़ावा देने और परमाणु हथियारों के ख़तरे के बारे में जागरूकता पैदा करने (Promote peace and create awareness about the threat of nuclear weapons) के लिए दुनिया भर में नागासाकी दिवस मनाया जा रहा है। यह दिन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह कई देशों में युद्ध-विरोधी (Anti-war) और परमाणु-विरोधी प्रदर्शनों (Anti-Nuclear Demonstrations) पर केंद्रित है।
  • जापान में प्रत्येक वर्ष 9 अगस्त को ‘काला दिवस/ब्लैक डे (Black Day)’ के रूप में मनाया जाता है।
  • इन शहरों में परमाणु हमले ने पीढ़ियों को जगह से मिटा दिया और मानव जीवन और संपत्ति दोनों को समूल रूप से नष्ट कर दिया।
  • उन लोगों के लिए सहानुभूति और एकांत की पेशकश करने के लिए यह दिन मनाया जाता है, जिन्होंने हमलों का सामना किया और परमाणु हमले में अपनी जान गंवाई।
  • इस दिन को मनाने का एक अन्य उद्देश्य, साथी राष्ट्रों को शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व (co-existence) का संदेश देना है भी है।
  • जापान के नागरिक, जो परमाणु युद्ध और प्रसार की छाया में रह रहे हैं, दिन के हिस्से के रूप में कई शांति अभियानों का आयोजन करके दुनिया में शांति और सह-अस्तित्व का संदेश फैलाते हैं। बैठकों, सम्मेलनों, समीक्षाओं और प्रस्तावों पर उच्च स्तर पर चर्चा की जाती है और दुनिया को रहने के लिए एक शांतिपूर्ण हैबिटेट बनाने के लिए समझौते किए जाते हैं।

Nagasaki Day 2022: मुख्य तथ्य (Key Facts)

  • नागासाकी जापान के सबसे पुरातन शहरों में से एक था जो दक्षिणी जापान में स्थित है। नागासाकी में जापान का दूसरा सबसे पुराना बंदरगाह (हिराडो के बाद) था जिसे विदेशी व्यापार के लिए खोला गया था।
  • नागासाकी पर 11 बजकर, 1 मिनट पर 6.4 किलो. का प्लूटोनियम-239 वाला ‘फैट मैन’ नाम का बम गिराया गया था।
  • नागासाकी में अमेरिकी परमाणु बमबारी की यह 77वीं बरसी है।
  • नागासाकी बमबारी के छह दिनों के बाद, जापानी सम्राट ग्योकून-होसो (Gyokuon-Hoso) के भाषण को प्रसारित किया गया, जिसमें उन्होंने आत्मसमर्पण की घोषणा की थी।
  • जब जापान ने 15 अगस्त, 1945 को मित्र राष्ट्रों के सामने आत्मसमर्पण किया तब जाकर द्वितीय विश्व युद्ध का समापन हुआ। युद्ध आधिकारिक तौर पर 2 सितंबर को समाप्त हो गया।
  • परमाणु हथियारों के भयानक प्रभावों के परिणामस्वरूप जापान एक शांतिवादी और बग़ैर-परमाणु वाला देश (Pacifist and Non-Nuclear Country) बन गया।अमेरिका द्वारा परमाणु बमों के उपयोग के कारण सोवियत संघ ने भी अपना परमाणु हथियार कार्यक्रम शुरू किया। सोवियत संघ द्वारा अपना स्वयं का परमाणु बम विकसित करने के साथ, शीत युद्ध का एक नया युग शुरू हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.