Russia-Ukraine War: रूस-यूक्रेन युद्ध से जुड़ी सभी डिटेल (All about Russia-Ukraine War), यूक्रेन की राजधानी Kyiv तक पहुंची रूसी सेना?

Ukraine Russia War: यूक्रेन की राजधानी Kyiv में रूसी सेना के सेंधमारी के बाद अब कीव पर कब्जे की जंग निर्णायक मोड़ पर आ गई है. वहीं दूसरी ओर खारकीव में भीषण लड़ाई जारी है और रूसे वहां के कई बड़े सैन्य ठिकानों पर बमबारी कर तबाह कर दिए हैं. साथ ही दक्षिण-पूर्व से भी एक अन्य सैन्य काफिले की बढ़ने की खबर सामने आई है. यह सब तब हो रहा है, जब पुतिन की ओर से कीव छोड़ने या फिर मरने के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी गई है। 

रूस-यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के हालात समय के साथ और भी ख़राब होते जा रहे है. वहीं इसी बीच बेलारूस में सोमवार को दोनों देशों के बीच हुई वार्ता बेनतीजा रही है. खबरों के मुताबिक, यूक्रेन की राजधानी कीव की ओर 64 किलोमीटर लंबा रूसी सैन्य काफिला बढ़ रहा है. इसकी सेटेलाइट तस्वीरें भी जारी हुई हैं. वहीं संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में इमरजेंसी डिबेट के पक्ष में 29 वोट पड़े हैं. भारत समेत 13 देशों ने इस वोटिंग में भाग नहीं लिया. इस आर्टिकल में हम आपको रूस-यूक्रेन युद्ध से जुड़ी डिटेल दे रहे हैं.

Russia-Ukraine War: क्या है मामला (What is the matter)?

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russia, Vladimir Putin) ने 24 फरवरी को अपने राष्ट्र को संबोधित किया और घोषणा की कि रूसी सैनिकों को यूक्रेन पर आक्रमण करने का आधिकारिक आदेश दिया गया है. रूस ने सबसे पहले यूक्रेन के हवाई अड्डों और सैन्य मुख्यालयों को निशाना बनाया और उनपर मिसाइल दागी और फिर रूसी टैंक और सैनिक, रूस से जुड़े क्रीमिया और सहयोगी बेलारूस से यूक्रेन के लिए आगे बढ़ गए.

Russia-Ukraine War: पृष्ठभूमि (Background of the situation)

डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक (Donetsk People’s Republic) और लुहान्स्क पीपुल्स रिपब्लिक (Luhansk People’s Republic) की स्वतंत्रता और संप्रभुता के लंबे समय से लंबित निर्णय लेने और अलग देश का दर्जा देने की रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की घोषणा के बाद युद्ध और तेज हो गया.

इस प्रकार, रूस ने अब यूक्रेन को तीन देशों में बांट दिया है: डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक, लुहान्स्क पीपुल्स रिपब्लिक और यूक्रेन (Donetsk People’s Republic, the Luhansk People’s Republic and Ukraine).

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) द्वारा उत्तर, पूर्व और दक्षिण से पूर्ण से रूप से आक्रमण का आदेश देने के कुछ दिनों बाद यूक्रेन की राजधानी में रूसी सैनिक ने सेंध मारी कर दी है अब जहाँ भीषण लड़ाई चल रही हैं.

Russia-Ukraine War: प्रभावित देश (Affected countries)

दो पड़ोसी देशों के बीच बढ़ते तनाव के कारण यूक्रेन का बड़ा हिस्सा बहुत प्रभावित हुआ है. हालाँकि दुनिया के अधिकांश राष्ट्र आपूर्ति श्रृंखला, आर्थिक गतिविधियों और कई अन्य व्यवधानों के कारण भी प्रभावित हुए हैं. 

मुख्य रूप से प्रभावित देश है अमेरिका, चीन, भारत, UK, EU (USA, China, India, UK, EU).

Russia-Ukraine War: भारत का रुख और कार्रवाई (India’s Stand and action)

इसी बीच अमेरिका, यूक्रेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रूस से बात करके मौजूदा स्थिति को जल्द से जल्द रोकने की कोशिश करने का आग्रह किया है. इसके बाद प्रधनामंत्री ने फोन पर रूसी राष्ट्रपति पुतिन से भी बात की.

हाल ही में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने यूक्रेन संकट पर एक उच्च स्तरीय बैठक की व्यवस्था की जिसमें चार केंद्रीय मंत्रियों को युद्ध प्रभावित क्षेत्र में भेजने और निकासी मिशन (evacuation mission) का नेतृत्व करने और वहां फसे भारतीय छात्रों को सुरक्षित वापस लाने में मदद करने का निर्णय लिया गया.

Russia-Ukraine War: ऑपरेशन गंगा (Operation Ganga)

उच्च स्तरीय बैठक के बाद यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा शुरू किया गया है. भारत ने यूक्रेन से अपने 20,000 नागरिकों को निकालने के लिए ‘मिशन गंगा’ शुरू किया है. इसमें बताया बताया गया है कि भारत दुनिया का एकमात्र देश है जो सरकारी खर्च पर यूक्रेन से अपने नागरिक को निकालने के लिए रेस्क्यू मिशन चला रहा है.

रूस-यूक्रेन युद्ध मौजूदा स्थिति (Russia-Ukraine War Current situation):

चूंकि समय बीतने के साथ ही स्थिति और खराब होती जा रही है, यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने भारतीयों को सलाह दी है कि वे आज (1 मार्च, 2022) तत्काल कीव छोड़ दें.

हालाँकि आज (1 मार्च) को एक भारतीय छात्र की गोलीबारी में मौत की दुखद ख़बर भी सामने आई जिसकी पुष्टि विदेश मंत्रालय ने ट्विट के जरिए दी.


Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.