Current Affairs in Hindi 2021

Daily Current Affairs in Hindi – 26 Sep 2021

महत्वपूर्ण तिथियाँ 

25 सितंबर : विश्व फार्मासिस्ट दिवस

विश्व फार्मासिस्ट दिवस (World Pharmacist Day) हर साल 25 सितंबर को विश्व स्तर पर मनाया जाता है।स्वास्थ्य में सुधार में फार्मासिस्ट की भूमिका के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए यह दिन मनाया जाता है।

यह दिन इस संगठन की परिषद के साथ-साथ इंटरनेशनल फार्मास्युटिकल फेडरेशन (International Pharmaceutical Federation – FIP) की एक पहल थी। इस वर्ष की थीम “फार्मेसी: हमेशा आपके स्वास्थ्य के लिए भरोसेमंद (“Pharmacy: Always trusted for your health)” है।

इस दिन को 2009 में FIP काउंसिल (इंटरनेशनल फ़ार्मास्युटिकल फ़ेडरेशन या फ़ेडरेशन इंटरनेशनेल फ़ार्मास्युटिक) द्वारा इस्तांबुल (Istanbul), तुर्की में वर्ल्ड कांग्रेस ऑफ़ फ़ार्मेसी एंड फ़ार्मास्युटिकल साइंसेज में नामित किया गया था। 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • इंटरनेशनल फार्मास्युटिकल फेडरेशन मुख्यालय स्थान: द हेग (The Hague), नीदरलैंड।
  • इंटरनेशनल फार्मास्युटिकल फेडरेशन की स्थापना: 25 सितंबर 1912।
  • इंटरनेशनल फार्मास्युटिकल फेडरेशन के अध्यक्ष: डोमिनिक जॉर्डन (Dominique Jordan)।

25 सितंबर : अंत्योदय दिवस

भारत में, पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Pandit Deendayal Upadhyaya) की जयंती को चिह्नित करने के लिए हर साल 25 सितंबर को अंत्योदय दिवस (Antyodaya Diwas) मनाया जाता है। 

अंत्योदय का अर्थ “गरीब से गरीब व्यक्ति का उत्थान” या “अंतिम व्यक्ति का उत्थान” (uplifting the poorest of the poor” or “rise of the last person)” है। यह दिन मोदी सरकार द्वारा 25 सितंबर 2014 को घोषित किया गया था और आधिकारिक तौर पर 2015 से मनाया जा रहा है।

1916 में मथुरा में पैदा हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय भारतीय जनसंघ के प्रमुख नेताओं में से एक थे, जिनसे बाद में भाजपा का उदय हुआ। वे 1953 से 1968 तक भारतीय जनसंघ के नेता रहे।

दीनदयाल उपाध्याय को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh – RSS) में उनके सहपाठी बालूजी महाशब्दे (Baluji Mahashabde) द्वारा पेश किया गया था

राज्य समाचार 

हिमाचल प्रदेश में दुनिया के सबसे ऊंचे ईवी चार्जिंग स्टेशन का उद्घाटन

हिमाचल प्रदेश में लाहौल और स्पीती (Lahaul and Spiti) जिले के काजा (Kaza) गांव में दुनिया के सबसे ऊंचे इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का उद्घाटन किया गया है। इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन 500 फीट की ऊंचाई पर स्थापित किया गया है।

इस पहल का उद्देश्य वाहनों के प्रदूषण की जांच करना और क्षेत्र में स्वच्छ और हरित वातावरण के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देना है। भारत इलेक्ट्रिक वाहन (electric vehicle – EV) पारिस्थितिकी तंत्र में अच्छी गति प्राप्त कर रहा है।

देश में बैटरी से चलने वाले छोटे इलेक्ट्रिक वाहनों जैसे ई-स्कूटर, इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर, ई-रिक्शा, ई-कार्ट और ई-बाइक को अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। बैटरी इलेक्ट्रिक वाहन और ईंधन सेल वाहन प्रौद्योगिकियां दोनों एक दूसरे के पूरक हैं और देश में 2050 तक जीवाश्म से चलने वाले ऑटोमोटिव से आगे निकलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल: राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर (Rajendra Vishwanath Arlekar);
  • हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री: जय राम ठाकुर (Jai Ram Thakur)।

अंतर्राष्ट्रीय समाचार 

WHO ने 2005 के बाद पहली बार वायु गुणवत्ता मानदंडों में संशोधन किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने अपने वायु गुणवत्ता दिशानिर्देशों (एक्यूजी) में कड़े संशोधन की घोषणा की है। 

2005 के बाद से WHO द्वारा वैश्विक वायु गुणवत्ता में यह पहला संशोधन है। नए दिशानिर्देशों में, डब्ल्यूएचओ ने ओज़ोन, नाइट्रोजन डाइऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड और पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) सहित प्रमुख प्रदूषकों के लिए स्वीकार्य जोखिम स्तर को कम कर दिया है।

भारत दुनिया के सबसे प्रदूषित देशों में से एक बना हुआ है। वायु प्रदूषण कई देशों में स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है। नई दिल्ली में 2020 में PM2.5 की औसत सांद्रता अनुशंसित स्तरों से 17 गुना अधिक थी। प्रदूषण का स्तर भी मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में अनुशंसित स्तरों से अधिक है।

नियुक्तियां 

गॉर्डन ब्राउन ग्लोबल हेल्थ फाइनेंसिंग के लिए WHO के राजदूत नियुक्त

डब्ल्यूएचओ ने यूनाइटेड किंगडम के पूर्व प्रधान मंत्री माननीय गॉर्डन ब्राउन (Gordon Brown) को वैश्विक स्वास्थ्य वित्तपोषण (Global Health Financing) के लिए डब्ल्यूएचओ राजदूत के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की है। 2009 के लंदन G20 शिखर सम्मेलन के अपने नेतृत्व के माध्यम से उन्हें दूसरी महामंदी को रोकने का श्रेय दिया जाता है। उन्होंने विश्व के नेताओं को ऋण, विकास और नौकरियों को बहाल करने के लिए अतिरिक्त 1.1 ट्रिलियन डॉलर देने के लिए प्रेरित किया।

श्री ब्राउन ने अथक रूप से धनी देशों के साथ-साथ निजी क्षेत्र से COVID-19 टीकों के समान वितरण को सुनिश्चित करने का आह्वान किया है, जो एक ठोस वैश्विक प्रयास की वकालत करते हैं – विज्ञान और ध्वनि अर्थशास्त्र में निहित – जीवन बचाने के लिए, महामारी को समाप्त करने और विश्व भर में आजीविका को बहाल करने के लिए।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण:

  • डब्ल्यूएचओ के अध्यक्ष: टेड्रोस अधानोम (Tedros Adhanom)।
  • डब्ल्यूएचओ का मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड।
  • डब्ल्यूएचओ की स्थापना: 7 अप्रैल 1948।

रक्षा

रक्षा मंत्रालय ने दिया 118 अर्जुन एमके-1ए टैंकों का ऑर्डर

रक्षा मंत्रालय भारतीय सेना के लिए 118 मुख्य युद्धक टैंक, एमबीटी अर्जुन एमके-1ए (Arjun Mk-1A) खरीदेगा। सेना की लड़ाकू धार को तेज करने के लिए हेवी व्हीकल्स फैक्ट्री (Heavy Vehicles Factory), अवादी (Avadi) को 7,523 करोड़ रुपये का ऑर्डर दिया गया था। 

यह रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया पहल का समर्थन करेगा और आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद करेगा। मुख्य युद्धक टैंक एमके-1ए अर्जुन टैंक का एक नया संस्करण है। इसे मारक क्षमता, गतिशीलता और उत्तरजीविता बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

अर्जुन टैंक पिछले 15 साल से भारतीय सेना का हिस्सा हैं। इसे कॉम्बैट वाहन अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (Combat Vehicles Research and Development Establishment – CVRDE) द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है।

इसका निर्माण चेन्नई में सरकार के भारी वाहन कारखाने में किया जाएगा। यह दिन और रात की परिस्थितियों में काम कर सकता है और स्थिर और गतिशील दोनों तरीकों से लक्ष्य पर निशाना साध सकता है।

भारतीय सेना कोलकाता में आयोजित करेगी ‘विजय सांस्कृतिक महोत्सव’

भारतीय सेना 26 से 29 सितंबर तक कोलकाता में “विजय सांस्कृतिक महोत्सव (Bijoya Sanskritik Mahotsav)” का आयोजन करेगी। यह महोत्सव भारत-पाक युद्ध 1971 की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में मनाया जाएगा। 

इस कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्वी कमान के सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे (Manoj Pande) करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान फिल्म स्क्रीनिंग, थिएटर नाटक, संगीत समारोह और बैंड प्रदर्शन सहित विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। यह भारत-पाक युद्ध की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में स्वर्णिम विजय वर्षा समारोह के हिस्से के रूप में आयोजित किया जाएगा।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी 

Apple के सह-संस्थापक स्टीव वोज्नियाक ने स्पेस स्टार्ट-अप प्राइवेटर लॉन्च किया

Apple के सह-निर्माता स्टीव वोज्नियाक (Steve Wozniak) ने प्राइवेटर स्पेस (Privateer Space) नामक एक नया स्पेस स्टार्ट-अप लॉन्च किया है, जो अरबपति एलोन मस्क (Elon Musk), जेफ बेजोस (Jeff Bezos) और रिचर्ड ब्रैनसन (Richard Branson) के वर्चस्व वाले क्षेत्र में संभावित प्रतिस्पर्धा ला रहा है।

14-17 सितंबर तक हवाई (Hawaii) में चलने वाले एडवांस्ड माउ ऑप्टिकल एंड स्पेस सर्विलांस टेक्नोलॉजीज सम्मेलन (Advanced Maui Optical and Space Surveillance Technologies Conference) में प्राइवेटर का प्रतिनिधित्व किया जाएगा।

वैश्विक अंतरिक्ष अर्थव्यवस्था, जिसने टेस्ला और अमेज़ॅन जैसी कई शीर्ष कंपनियों को आकर्षित किया है, जिसमे अनुसंधान और विकास, अंतरिक्ष पर्यटन और अंतरिक्ष के उपयोग जैसी विभिन्न गतिविधियां शामिल हैं।

बैंक ऑफ अमेरिका का अनुमान है कि 1.4 ट्रिलियन डॉलर के बाजार मूल्य के साथ 2030 तक अंतरिक्ष अर्थव्यवस्था का आकार तीन गुना से अधिक हो जाएगा।

पुस्तक एवं लेखक 

विजय गोखले की नई किताब द लॉन्ग गेम: हाउ द चाइनीज नेगोशिएट विद इंडिया

विजय गोखले (Vijay Gokhale) द्वारा लिखित “द लॉन्ग गेम: हाउ द चाइनीज नेगोशिएट विद इंडिया (The Long Game: How the Chinese Negotiate with India)” नामक नई पुस्तक है। इस नई पुस्तक में, भारत के पूर्व विदेश सचिव, विजय गोखले, छह ऐतिहासिक और हालिया घटनाओं के प्रिज़्म के माध्यम से भारत-चीन संबंधों की गतिशीलता को उजागर करते हैं।

यह पुस्तक एक व्यवसायी को उन रणनीतियों, युक्तियों और उपकरणों के बारे में जानकारी देती है जिनका उपयोग चीन राजनयिक वार्ता के लिए करता है। उनकी पहली पुस्तक “तियानमेन स्क्वायर: द मेकिंग ऑफ ए प्रोटेस्ट (Tiananmen Square: The Making of a Protest)” इस महीने की शुरुआत में प्रकाशित हुई थी।

निरुपमा राव की नई पुस्तक का शीर्षक “द फ्रैक्चरर्ड हिमालय”

निरुपमा राव (Nirupama Rao) द्वारा लिखित “द फ्रैक्चर्ड हिमालय: हाउ द पास्ट शैडोज द प्रेजेंट इन इंडिया-चाइना रिलेशंस” नामक पुस्तक है। 

यह पुस्तक इस बात का पता लगाती है कि कैसे भारत और चीन के बीच विवाद की उत्पत्ति एक जीवित इतिहास का हिस्सा बनती है जो आज उनके टूटे हुए संबंधों को आकार देती है। 

इस जटिल पैनोरमा को समझना हम सभी के लिए सबक देता है जो चीन और हिंद-प्रशांत में इसकी रूपरेखा पर व्यापक दृष्टिकोण चाहते हैं। निरुपमा राव पूर्व विदेश सचिव हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.